सुरंग  में फंसे सभी श्रमिकों को सुरक्षित निकलना सरकार की पहली प्राथमिकता: नितिन गडकरी

jantakikhabar
0 0
cropped-AAPNKHABAR-1.jpg
Read Time:5 Minute, 42 Second
अनेक प्रकार ड्रिलिंग मशीन व  टेक्नोलॉजी से कर रहे काम: गडकरी
चिरंजीव सेमवाल
उत्तरकाशी। केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि भारत सरकार एवं राज्य सरकार पूरे ऑपरेशन में पहली प्राथमिकता है कि सुरंग में बंद 41 श्रमिकों को कैसे जल्द से जल्द सुरक्षित बाहर निकालना है।
रविवार को निर्माणाधीन सिल्क्यारा सुरंग में फंसे श्रमिकों के पूरे ऑपरेशन के निरीक्षण करने पहुंचे केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता श्रमिकों की रक्षा कैसे करें उनकी जो आवश्यकता है उनको कैसे मिले  जो फूड है उनके पास पहुंच पाए इस पर तेज़ी से कार्य हो रहा है। आने वाले समय में भोजन – मेडिसिन पहुंचने में कोई दिक्कत नहीं  होगी यह कार्य जल्द पूरा होगा। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की लाइन भी है।
 बात यह हैं कि उनकी रक्षा कैसे करें।
बिजली की व्यवस्था , पानी की व्यवस्था यह सब सपोर्टिंग जितनी बातें उसकी भी व्यवस्था पूरी की गई है। बहुत से मशीन पहुंचे हैं जो पहला प्रयास हमने ऑगर  ड्रिल मशीन  का शुरू किया जो अमेरिका में बनी हुई है वह एक मशीन काम कर रही दूसरी भी मशीन है पर वह मशीन वह अच्छा काम कर रही थी अचानक हार्ड मटेरियल आने के कारण थोड़ा सा चिंता का विषय हुआ उसका भी टेक्निकल सॉल्यूशन निकल गया है और वह मशीन जो है वह जो पाइप अंदर  जाएगा वह आखरी तक पहुंच कर फिर वहां से लोगों को उसमें से बाहर निकलने का प्लान  है उसमें ।  वर्टिकल भी तीन प्रकार के प्रयास है उसके भी हम कोई भी  प्रयास ऐसा नहीं रखा जो हमको नहीं कर सकते हमने सब प्रकार के प्रयास किया पहले प्रायोरिटी है उनकी जान बचाना और जल्द से जल्द उनको बाहर निकलना है तो टेक्नोलॉजी अलग-अलग प्रकार की कम कर रही है।
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि मुख्यमंत्री  ने पूरी तरह से उनका प्रेजेंटेशन और उसका पूरी अभी तक का रिपोर्ट लिया है। राज्य सरकार  और भारत सरकार ने जहां भी जरूरत होगी वहां एयरलिफ्ट या रोड बनाना रोड बनाना   जो भी आवश्यकता होगी  पूरी किया गई है।
उन्होंने कहा कि यहां आपदा है जो  बहुत बड़ी समस्या है।
उन्होंने कहा कि हिमालय की जियोलॉजी ऐसी है मैं महाराष्ट्र से हूं तो हमारे यहां पहाड़ का मतलब हार्ड पत्थर होता है, लेकिन  हिमालय राज्य उत्तराखंड, हिमाचल की मिट्टी कुछ अलग है। यहां  मिट्टी सॉफ्ट है इसको आईडेंटिफाई की है और उसके लिए भी परमानेंट सॉल्यूशन कैसे ढूंढा जाए उसमें उत्तराखंड के सरकार ने भी एक रिसर्च इंस्टीट्यूट खोला है।  मैं इतना ही बता सकता हूं यह जो ऑगर मशीन है अगर ठीक से चल गई तो हम दो से ढाई दिन में वहां तक पहुंच सकते हैं और वह भी प्रयास सबसे नजदीक होने वाला है पर इसके अलावा अलग-अलग प्रयास किए  जा रहे  हैं। हमने वर्टिकल  भी अंदर जाने के प्रयास पर कार्य कर रहे हैं।इस दौरान केंद्र पर केंद्र सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी एवं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी मुख्य सचिव बीएससी सिद्धू आदि ने  श्रमिकों के परिवार जनों को भी  मिले  उन्होंने परिवारजनों को हिम्मत देते हुए हर संभव सभी श्रमिकों को सुरक्षित बाहर निकलने का आश्वासन दिया।
इस दौरान आपदा सचिव डॉ रंजीत कुमार सिन्हा ने बताया कि रेस्क्यू ऑपरेशन में अब रोबोट की मदद ली जाएगी। सुरंग में मशीनों के इस्तेमाल से दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मलबा लगातार गिरने से रेस्क्यू में बाधा आ रही है।
इस मौके पर प्रधानमंत्री कार्यालय के उपसचिव मंगेश घिल्डियाल एवं प्रधानमंत्री के पूर्व सलाहकार तथा उत्तराखण्ड सरकार के विशेष कार्याधिकारी भास्कर खुल्बे,  मुख्य सचिव एसएस संधू , गंगोत्री क्षेत्र के विधायक सुरेश चौहान , भाजपा जिला अध्यक्ष सत्येंद्र राणा ,एनएचआईडीसीएल के निर्देशक, जिलाधिकारी अभिषेक रूहेला ,पुलिस अधीक्षक  अर्पण यदुवंशी, अपर जिलाधिकारी तीरथ पाल सिंह, उपजिलाधिकारी बृजेश तिवारी आदि मौजूद रहे हैं।
Avatar

About Post Author

jantakikhabar

9897129437 गोपेश्वर चमोली ranjeetnnegi@gmail.com
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

उद्धव भगवान, कुबेर और शंकराचार्य की गद्दी की डोलिया पहुंची पाण्डुकेश्वर

चमोली।भू बैकुंठ धाम श्री बदरीनाथ मंदिर के कपाट बंद होने के बाद आज रविवार को  गढ़वाल स्काउट की मधुर बैंड की धुनों के साथ भगवान कुबेर और उद्धव जी की देव डोलियां अपने शीतकालीन पूजा स्थल पांडुकेश्वर पहुंच गए हैं। यहां उद्धव जी योग ध्यान मंदिर और भगवान कुबेर अपने […]

You May Like

Subscribe US Now

Share