सीडीओ ने ईको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए विकास कार्यों के प्रस्ताव तैयार करने के दिए निर्देश

jantakikhabar
0 0
cropped-AAPNKHABAR-1.jpg
Read Time:2 Minute, 59 Second

गोपेश्वर (चमोली)। मुख्य विकास अधिकारी चमोली डॉ. ललित नारायण मिश्र की अध्यक्षता में मंगलवार को जिला स्तरीय ईको टूरिज्म विकास समिति की बैठक संपन्न हुई। जिसमें ईको टूरिज्म गतिविधियों को बढावा देने के लिए विभिन्न विकास कार्यो के लिए तैयार प्रस्तावों पर गहनता से चर्चा की गई।

 

मुख्य विकास अधिकारी ने निर्देशित किया कि ईको टूरिज्म के लिए प्रस्तावित डीपीआर का तकनीकी परीक्षण कराने के बाद शासन को भेजा जाए और स्वीकृति मिलने पर शीघ्र विकास कार्य शुरू किए जाए। मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि ईको टूरिज्म स्थलों पर इको पार्क और हर्बल गार्डन बनाने के लिए भी प्रस्ताव तैयार किया जाए। पर्यटकों की जानकारी के लिए इको टूरिस्ट स्थलों का प्रचार प्रसार करें और स्थानीय लोगों को प्रशिक्षण देकर रोजगार से जोड़ा जाए।

जनपद में ईको टूरिज्म विकास के लिए वन विभाग की ओर से छह प्रस्ताव तैयार किए गए है। पहले चरण में जिले में माणा-सतोपंथ, माणा-वसुधारा, लोहाजंग-भेंकलताल ट्रैक, वाण-बेदनी-रूपकुंड ट्रैक, घेस-बगजी ट्रैक, लॉर्ड कर्जन-कुंवारी पास ट्रैक और मंडल से चोपता तथा भुलकना से सौखर्क होते हुए तुंगनाथ तक बर्ड वाचिंग ट्रेल विकसित करने के लिए 6.27 करोड़ की डीपीआर तैयार की गई है। इन ट्रैक मार्गो पर सुधारीकरण के साथ मार्ग में भूस्खलन क्षेत्रों का ट्रीटमेंट, रेन शेल्टर निर्माण, पर्यटकों को बैठने के लिए स्थानीय सामग्री से निर्मित बैंच, साइनेज बोर्ड, प्राकृतिक जल स्रोतों का पुर्नद्वार, पेयजल, ग्रीन टॉयलेट, डस्टबिन आदि सुविधाएं विकसित करने के प्रस्ताव तैयार किए गए है। तकनीकी परीक्षण के बाद प्रस्ताव शासन को भेजे जाएंगे। बैठक में डीएफओ सर्वेश कुमार दुबे, डीएफओ इन्द्र सिंह नेगी, डीएफओ वीवी मरतोलिया, परियोजना निदेशक आनंद सिंह, जिला पर्यटन अधिकारी एसएस राणा आदि मौजूद थे।

Avatar

About Post Author

jantakikhabar

9897129437 गोपेश्वर चमोली ranjeetnnegi@gmail.com
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

इस विदाई का कोई मोल नहीः शिक्षक के तबादले पर रो पडे ग्रामीण और स्कूल के बच्चे

गोपेश्वर (चमोली)। ये दृश्य न तो किसी बेटी का मायके से ससुराल जानें का था, न 12 बरस में आयोजित नंदा देवी राजजात यात्रा में नंदा की डोली का कैलाश विदा होने का था और न ही किसी राजनैतिक पार्टी का बल्कि ये दृश्य सीमांत जनपद चमोली के घाट ब्लाक […]

Subscribe US Now

Share