मानव-वन्यजीव संघर्ष रोकथाम में लापरवाही पर जवाबदेही तय, धामी

jantakikhabar
0 0
cropped-AAPNKHABAR-1.jpg
Read Time:3 Minute, 40 Second
देहरादून शहर के जाखन में गुलदार का हमला होने से बढ़ी चिंता
देहरादून। देहरादून सहित प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में गुलदार द्वारा बच्चों पर आक्रमण करने की घटनाओं पर चिंता व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा प्रमुख सचिव वन आर. के. सुधांशु को निर्देश दिये गये थे कि इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए प्रभावी कार्य योजना पर कार्य किया जाय।मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में शासन द्वारा मानव वन्यजीव संघर्ष के निवारण में जन सामान्य को सक्रिय सहभागिता सुनिश्चित करने हेतु वन विभाग के मार्गदर्शन में स्थानीय स्तर पर सहयोग के लिये कतिपय दिशा निर्देश एवं सुझाव निर्गत किये गये है।
वन्यजीव बाहुल्य वन क्षेत्रों में अकेले जाने से बचें।
 जारी निर्देशों में उल्लेख किया गया है कि लोग वन्यजीव बाहुल्य वन क्षेत्रों में अकेले जाने से बचें। यथासंभव समूह में जाएं तथा इससे गुजरते समय विशेष रूप से सतर्क रहे। किसी वन्य प्राणी की उपस्थिति का आभास होने पर अत्यंत सावधानी बरती जाय। उप सचिव वन अनुभाग सत्य प्रकाश सिंह द्वारा महानिदेशक सूचना को संभोधित पत्र में यह भी स्पष्ट किया गया है कि किसी भी प्रकार के कचरे को घर के आस-पास अथवा रास्ते में इधर-उधर न फेंके, उसके निस्तारण को उचित व्यवस्था करे। इस प्रकार आसानी से उपलब्ध होने वाले भोजन से वन्य प्राणी आकर्षित होते हैं, जिनसे उनके साथ सामना होने की सम्भावना बढ़ जाती है। जारी निर्देशों में बताया गया है कि ऐसे क्षेत्रों में सूर्यास्त से सूर्योदय के बीच अत्यंत आवश्यक होने पर ही प्रवेश करें तथा इस अवधि में अत्यन्त सावधानी बरते। नित्य कर्म अथवा अन्य किसी कार्य से अचानक मार्ग के निकट वन में प्रवेश न करें। बच्चों को समूह में स्कूल आने-जाने को प्रेरित किया जाय। वन क्षेत्रों से जाते समय अपने साथ यथा सम्भव मजबूत छड़ी आदि साथ रखें। वन्य प्राणियों से सामना होने पर सावधानी बरते एवं जल्दी से जल्दी सुरक्षित दूरी बनायी जाय। किसी वन्यप्राणी के दिखने पर यह अवश्य देखा जाय कि वह अकेला है अथवा समूह में। जो वन्य प्राणी समूह में विचरण करते हैं, उनके बारे में यह सुनिश्चित कर ले कि यदि एक वन्यप्राणी दिख रहा है तो उस समूह के अन्य सदस्य आपके पीछे अथवा आस-पास तो नहीं है। ऐसा किया जाना सुरक्षा की दृष्टि से परम आवश्यक है। कौतूहलवश अथवा अति उत्साह में किसी वन्य प्राणी के पास जाने एवं फोटो खींचने आदि से बचें।
Avatar

About Post Author

jantakikhabar

9897129437 गोपेश्वर चमोली ranjeetnnegi@gmail.com
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने भाजपा मुख्यालय में किया नानाजी देशमुख पुस्तकालय का उद्घाटन,

देहरादून । भाजपा मुख्यालय  देहरादून में मंगलवार को नाना जी देशमुख पुस्तकालय का उद्घाटन किया गया। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष  महेंद्र भट्ट ने इस अवसर पर कहा कि पुस्तकों की सर्वांगीण  एवं सामाजिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका रहती है । इसलिए हम सबको अपने बौद्धिक एवं वैचारिक संवर्धन के लिए पुस्तकों […]

You May Like

Subscribe US Now

Share